Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri Dun...

Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri Dun...: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: जन्म उत्... : Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: जन्म उत्सव के दिन एक ए... : ...


नारी मनोविज्ञान 


नारी मनोविज्ञान
बड़ा ही गूढ विषय है
रहस्यमय विज्ञान है
कल्पनातीत अवर्णिय संकल्पना
कवियों की कम्पना से परे
मन की गहराईयों से परे 

कुछ अप्रतिम अनुपम
नारी श्रद्धा और अश्रद्धा
नारी मृदु मधुर छुअन
परत दर परत चढी
कोमलता की साकार मूर्ति
सागर की गहराई को छूने वाली

नारी मनोविज्ञान का चीर हरण
कलंक का टीका धारण करने वाले
ममता ममत्व को ढूढा होता
अपने में इन्सान इन्साफ पाया होता
धरती की एक माँ नारी
जब भूख प्यास से रोती है

जब किसी निर्लज्ज की होती शिकार
तो कायरों को गटर में डूबोती है
भारत माँ के नाम से जाना जाने वाला
कैसे बुलन्दी को छुएगा
जब तक उससे जन्मा पुरुष
माँ की मानसिकता को समझे
पिला अमृत धार जब

नारी की छाती सूख जाती
पुरुष खोता सुधबुध
अलसाई सी छा जाती
कल्पनाओं के संसार की
नारी अब भू पर नजर नही आती
त्याग बलिदान की वह प्रतिमा
खोती सी नजर आती

डाँ मधु त्रिवेदी
प्राचार्या
शान्ति निकेतन कालेज
आॅफ एजूकेशन
आगरा

Comments

Popular posts from this blog

Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri Dun...

Meri DuniyaN:

Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri DuniyaN: Meri Dun...